Uncategorized Archive

मेरे सपने और मैं

    अटखेलियां खेलता बहुत  ललचाता, कभी मैं उसे छेड़ती कभी वो मुझे छेड़ता।    दामन हाथ मैं आते ही फिसलता, कभी आंसूं कभी हौसला देता।   कभी पास होता कभी पहुंच से बहार,  यही रिश्ता है हमारा। न मैं उसे छोड़ती न वो मुझे ...Read More

Pre-Prem, Post-Prem……Real Prem?? (*prem is a Sanskrit word meaning love) Telephone, cell phone, going mobile or being virtual has made the world such a small place……you reckon? I don’t. 30 CHF or 150 INR – 1 GB internet, 90 minutes and unlimited text messages ...Read More